Release id: 20/ 2016

Back to Press Room

27 जनवरी 2017

रील परिसर में गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन 

 

राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड इन्स्ट्रूमेन्ट्स लिमिटेड (रील), के कनकपुरा स्थित परिसर में हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन बडे ही हर्षोल्लास से किया गया। इस अवसर पर कम्पनी में प्रबन्ध निदेशक श्री ए.के. जैन द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया, साथ ही सभी उपस्थित कर्मचारियों व उनके परिजनों द्वारा राष्ट्रीय गान गाकर देश के 68 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्र के प्रति सम्मान व देश प्रेम की भावना प्रकट की गयी।

               

इस अवसर पर प्रबन्ध निदेशक श्री ए.के. जैन ने अपने उद्बोधन में सभी कर्मचारियों, उनके परिजनों व सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ दी। श्री जैन ने कहा की रील जो कि भारत सरकार का सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम है, ने अपने अथक प्रयासों से विगत 35 वर्षो से अपने मूल उद्देष्य Shaping Rural India Through Electronics, Renewable Energy & IT Solutions के साथ ग्रामीण भारत के विकास में निरन्तर योगदान दिया है।

 

श्री जैन ने कहा कि रील एक ऐसी कम्पनी है जिसने इनोवेशन की शक्ति के माध्यम से ऐसे उपकरण और सेवाएं प्रदान की है जिससे हर व्यक्ति, हर संगठन सशक्त बन सकें। रील ने इतिहास बनाते हुए टेक्नोलॉजी को शहरी क्षेत्रों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुँचाया है। श्री जैन ने कहा की कम्पनी माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया एवं अन्य मिशन की दिशा में कार्य करते हुए भारत की अर्थव्यवस्था के उत्थान के लिए पूरी तरह समर्पित है। इसी दिशा में तेजी से नई तकनीक के प्रयोग द्वारा डेयरी क्षेत्र में करप्शन फ्री डेयरी बनाने में पूरी तरह से कार्यरत है। कम्पनी अक्षय ऊर्जा (Renewable  Energy) के क्षेत्र में राजस्थान में ही नही अपितु राष्ट्रीय स्तर पर अग्रणी उपक्रम के रूप में समग्र राष्ट्र निर्माण में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। कम्पनी के पास भविष्य के लिए आशानुरूप कार्यआदेश हैं।

 

इस अवसर पर कम्पनी में वर्ष 2016-17 में ’’सतर्कता जागरूकता सप्ताह’’ ’’संविधान दिवस’’ के दौरान आयोजित प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पारितोषिक देकर सम्मानित किया एवं त्रैमासिक न्यूज लेटर का भी अनावरण किया गया। अंत में सभी कर्मचारियों व उपस्थित परिजनों ने जल-पान का आनन्द लिया।

 

*******