Release id: 27/ 2015

Back to Press Room

29 May 2015

 चेयरमेन एन.डी.डी.बी. ने रील परिसर का अवलोकन किया

 

श्री टी. नंद कुमार, अध्यक्ष, राष्ट्रीय डेरी विकास बोर्ड द्वारा रील परिसर में स्थापित, नए उपकरण EMAT की उत्पादन ईकाई का उद्घाटन श्री .के. जैन, प्रबन्ध निदेशक, रील, व अन्य गणमान्य अधिकारियों की उपस्थिति में किया गया। इस अवसर पर कम्पनी के प्रबन्ध निदेशक श्री ए.के. जैन ने माननीय अध्यक्ष महोदय के साथ अन्य अधिकारियों का स्वागत किया व कम्पनी के विभिन्न उत्पादों, उत्पादन प्रक्रिया, गुणवत्ता, अनुसंधान एवं सूचना प्रौद्योगिकी आदि विभागों के कार्यों व कम्पनी द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में संचालित गतिविधियों की जानकारी दी। 

 

श्री टी. नंद कुमार ने कम्पनी द्वारा डेरी उद्योग में काम में आने वाले विभिन्न उपकरणों जैसे इलेक्ट्रॉनिक मिल्क टेस्टर, ऑटोमेटिक मिल्क कलेक्शन स्टेशन, अल्ट्रा सोनिक मिल्क एनेलाइजर, डाटा प्रोसेसर यूनिट, मिल्क अडल्ट्रेशन टेस्टर, आटो इलेक्ट्रानिक मिल्क टेस्टर, सोलर ऑटो ट्रेकर, सौर ऊर्जा एवं सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र आदि की तकनीक का बारीकी से अवलोकन किया एवं जानकारी ली। 

 

श्री जैन ने बताया की रील पिछले तीन दशकों से दुग्ध विश्लेषण उपकरणों का सबसे बड़ा निर्माता एवं आपूर्तिकर्ता है, जो की डेरी क्षेत्र के सभी स्तरों जैसे दुग्ध संग्रह केन्द्रों/दुग्ध शीतलन केन्द्र/बीएमसी/डेयरी संयंत्र/सहकारिता के क्षेत्र में काफी प्रचलित है। प्रसंस्करण, पेकेजिंग, अन्त उपयोगकर्ता विश्लेषण व सर्विस डिलीवरी के सभी स्तरों पर मूल्य जोड़कर रील ने अपने 43 प्रकार के दुग्ध विश्लेषण उपकरणों के साथ, दूर-दराज के क्षेत्रों में रहने वालें लगभग 40 लाख भारतीयों को लाभान्वित करतें हुए सबसे बडे दुग्ध विश्लेषण उपकारणों के निर्माता व आपूर्तिकर्ता बननें में कामयाबी हासिल की है।

 

श्री टी. नंद कुमार ने विशेष रूप से डेरी क्षेत्र में कम्पनी द्वारा किए गए कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि ये उत्पाद देश के सामाजिक व आर्थिक विकास को गति प्रदान करने में सहायक सिद्ध हो रहे हैं। भविष्य में सौर ऊर्जा चलित डेयरी उपकरणों को महत्वपूर्ण बताते हुए माननीय अध्यक्ष महोदय ने इनके निरन्तर उपयोग व विकास का सुझाव दिया व राष्ट्रीय डेरी विकास बोर्ड द्वारा पूर्ण सहयोग की बात कही। उन्होने मिल्क अडल्ट्रेशन टेस्टर के अधिकाधिक प्रसार व प्रचार को समय की आवश्यकता बताया और दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्रों को सौर ऊर्जा चलित डेयरी उपकरणों से आत्मनिर्भर बनाने की बात कही, जिससे ग्रामीण लोग रील के उत्पादों का क्रय कर लाभांवित हों। उन्होंने रील को दुग्ध उत्पादकों के हित में सतत् अनुसंधान में प्रयासरत रहने का संदेश दिया। इस अवसर पर उन्होने वृक्षारोपण भी किया।

 

इस अवसर पर कम्पनी के प्रबन्ध निदेशक श्री ए.के. जैन ने माननीय अध्यक्ष महोदय को विश्वास दिलाया की कम्पनी हमेशा भारतीय डेरी उद्योग पर ध्यान केन्द्रित रखेगी और भारतीय डेरी उद्योग के विकास के लिए दुग्ध विश्लेषण उपकरण उपलब्ध कराने का प्रयास करेगी और देश के सम्पूर्ण विकास में सहायक होगी।

 

Chairman NDDB Visits REIL

 

Shri T. Nanda Kumar, Chairman, National Dairy Development Board (NDDB) inaugurated manufacturing facility for new product EMAT in the gracious presence of Shri A.K. Jain Managing Director, REIL and other eminent personalities. On this occasion the Managing Director, Shri A.K. Jain welcomed Hon’ble Chairman along with other dignitaries and apprised of the products of the Company; Manufacturing, Quality Assurance, Research & Development and Information Technology activities; and operations of the Company in the areas of Electronics, Renewable Energy  and Information Technology Sector.

 

Shri T. Nanda Kumar saw the demonstration of products manufactured by Company, for the dairy sector such as EMT, Automatic Milk Collection Station, Ultra Sonic Milk Analyzer, Data Processor Unit, Milk Adulteration Tester, Auto Electronic Milk Tester, Solar Auto Tracker etc; SPV based applications; and Information Technology. He took keen interest in the technologies used, products and their applications and the scale of product deployment in the country. 

 

Shri Jain iterated that REIL has now, for over three decades manufactured, supplied and supported milk analysis instruments across all tiers of the dairy sector namely milk collection center /milk chilling center/BMC/Dairy plants/New Generation Co-operatives. By adding value at every stage of processing, packaging, end user analysis and service delivery, REIL has succeeded in becoming the largest milk analyzer manufacturer and supplier, having 43 variants of the instrument and benefiting more than 40 million Indians including those who live in far-flung areas.

 

Shri T. Nanda Kumar acknowledged the work done by the Company, especially in the area of SPV based Renewable Energy, and observed that these products are useful in providing impetus to the Social and Economic Development of our country. Hon’ble Chairman on the significance of solar energy based applications gave suggestions for the development of new applications while assuring full support from the National Dairy Development Board (NDDB). He also suggested that the need of the hour is to promote Milk Adulteration Tester extensively so that REIL may further augment their sales and services network in rural areas to facilitate them in buying the products of REIL and benefit from them. He iterated REIL to innovate continuously for the benefit of milk producers. Plantation in the company was also done by him.

 

The Managing Director, Shri A.K. Jain assured that REIL shall always be focused on the Indian dairy industry and put all its efforts for offering such milk analyzer instruments, which contribute to the growth of Indian dairy industry and ultimately aid in the overall development of the Country.    

 

 

 

*********